loading...
loading...

बिहार में कोरोना का संक्रमण अभी पूरी तरह खत्म नहीं हुआ है लेकिन इस संकट के बीच सरकार विधानसभा चुनाव संपन्न कराना चाहती है। कोरोना काल में लोगों की जान बचाने में दिन रात लगे डॉक्टर्स की ड्यूटी अब चुनाव में लगाई जा है। जिसके कारण उन्हें काफी मुश्किलें हो सकती हैं। डॉक्‍टर इसके खिलाफ हाईकोर्ट में अवमानना वाद दायर करने के मूड में हैं।

कोरोना संक्रमण से लोगों की जान बचाने में जुटे डॉक्टर्स और दूसरे मेडिकल स्टाफ की ड्यूटी इलेक्शन में लगाई जा रही है। कोरोना संक्रमण के बीच चुनाव ड्यूटी पर लगाए जाने का डॉक्‍टरों ने विरोध किया है। बिहार स्वास्थ्य सेवा संघ (भासा) ने कोरोना काल में डॉक्टरों और पारा मेडिकल स्टाफ को चुनाव ड्यूटी में लगाने के विरोध में मोर्चा खोल दिया है। उन्‍होंने इसे मरीजों के साथ नाइंसाफी और हाईकोर्ट के आदेश की अवहेलना बताया है।

loading...

बिहार स्वास्थ्य सेवा संघ (भासा) के मुख्य प्रवक्ता डॉ। रामरेखा प्रसाद ने चुनाव उन्‍हें ड्यूटी से मुक्त नहीं किए जाने पर अदालत में अवमानना वाद दायर करने की चेतावनी दी है. डॉक्टरों का कहना है कि एक लोकहित याचिका में हाईकोर्ट ने निर्वाचन आयोग को स्वास्थ्य कर्मियों को चुनावी ड्यूटी से मुक्त रखने का निर्देश दिया था।

इसकी अनदेखी कर जिला निर्वाचन कोषांग ने हाल में डॉक्टरों और पारा मेडिकल स्टाफ को चुनाव के लिए प्रशिक्षण का पत्र जारी कर दिया है।