loading...
loading...

भारत: में कोरोनावायरस के मामले तेजी से बढ़ रहा है। देश में 15 लाख से ज्यादा केस कोरोनावायरस संक्रमण के आए हैं। प्रत्येक दिन 50 हज़ार से ज़्यादा लोग संक्रमित हो रहें हैं। लेकिन सरकार कुछ भी नहीं कर रही है। इतिहास में ये बात याद रखा जाएगा की जब पूरी दुनिया में कोरोना नाम की बिमारी फैली थी तो भारत की मुर्ख सरकार हॉस्पिटल बनाने के बजाय मन्दिर बनवा रहा था। दवाई के जगह ताली और थाली बजवा रहा था।

दरअसल जब से भारत में कोरोना मरीज़ की संख्या 15 लाख के पार गई है तब से ट्विटर पर लोग सवाल पूछ रहे हैं कि भारत के लोगों के खाते में 15 लाख नहीं आए लेकिन 15 लाख कोरोनावायरस संक्रमण के केस आ गए ऐसा वो लोग इसलिए कह रहे हैं। क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब 2014 में चुनाव की तैयारी कर रहे थे तब उन्होंने वादा किया था कि भारत के प्रत्येक नागरिक के खाते में 15 लाख रुपए आएंगे।

कांग्रेस के प्रवक्ता गौरव वल्लभ ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया है वह भी 15 लाख से संबंधित मौजूदा सरकार पर सवाल खड़े कर रहे हैं उन्होंने भी कहा है कि भारत में लोगों के खाते में 15 लाख नहीं आए लेकिन भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के 15 लाख केस आ गए और यह केस लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं प्रतिदिन आने वाले मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। देखिए गौरव वल्लभ का ये ट्वीट सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। लोग मोदी सरकार को खरी खोटी सुना रहे हैं।

loading...


आपको बता दें कि जब-जब इस देश में मोदी सरकार की नाकामी का जनता को पता चला है तब-तब मोदी सरकार ओर इस देश की दलाल मिडिया जनता को गुमराह करने के लिए मंदिर और राफेल देखने लगें हैं आपको पता होगा जब कोरोनावायरस भारत में फैलना शुरू हुआ था तो कुछ जमानत के संक्रमित हो गया था उस समय हमारे देश की कायर मिडिया लोगों में इतना जहर भर दिया की जैसे लगने लगा कोरोनावायरस मुस्लिम लोगों से ही फैल रही है।

दीन रात सोते बैठते टीवी पर यही चलता रहता था जमाती को ये लोग आतंकवाद तक बना चुकी थी। लेकिन अब इस मिडिया को सांप सूंघ गया है क्योंकि अब अयोध्या में राम मंदिर के पुजारी और तमाम लोग कोरोन संक्रमित हो गया है। इनके बारे एक बार भी ये लोग नहीं दीखाते है।।