loading...

मध्यप्रदेश: एक विडियो तेज़ी से वायरल हो रही है विडियो में साफ़ किसानों पर मध्यप्रदेश पुलिस किस तरह अत्याचार कर रही है ये साफ़ देखा जा सकता है। ये मामला मध्यप्रदेश के गुना में सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाने पहुंचे प्रशासनिक अमले ने अमानवीयता की सारी हदें पार कर दीं।

मध्यप्रदेश के गुना की पुलिस खुद को हर सिस्टम से उपर समझती है। जिस किसान को आनंदात माना जाता है। उस किसान के परिवार पर इस कदर पुलिस का अत्याचार बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। कभी कभी ऐसा लगता है कि इस सामज में विकास दुबे जैसे लोगों का रहना बिलकुल सही है। जो इस करप्ट सिस्टम की धज्जियां उड़ाई।

आपको बता दें कि मध्यप्रदेश के गुना में जमीन से दखल हटाने पहुंची पुलिस ने कुछ इस कदर कहर बरपाया कि पति-पत्नी ने कीटनाशक पी लिया। अब वीडियो वायरल हुआ तो सरकार की नींद टूटी और गुना के कलेक्टर और एसपी को हटा दिया गया है।

गरीबों पर हमला, लोकतंत्र पर हमला,दलितों पर हमला, किसानों पर हमलायही तो है भाजपा का चाल, चेहरा और चरित्र।इस अन्याय के खिलाफ कांग्रेस जी – जान से लड़ेगी।

loading...

Posted by Priyanka Gandhi Vadra on Wednesday, July 15, 2020

कीटनाशक पी लेने के बाद पुलिस बेकाबू रही। पति पत्नी को जबरन गाडी में बिठाने की कोशिश की गई। इस घटना का वीडियो वायरल हुआ तो देखने वाले दहल गए। वीडियो में दिख रहा था कि कैसे पति-पत्नी को उनके बच्चों के सामने पीटा जा रहा था। यहां तक की परिवार के मासूम बच्चों तक को नहीं छोड़ा गया।

किसान परिवार को सार्वजनिक तौर पर इतना प्रताड़ित किया कि उसने सबके सामने जहर पी लिया। इसके बावजूद प्रशासनिक अमल दूर खड़े-खड़े मुस्कराता रहा। अफसर इसे नाटक बताते रहे। लेकिन जब मां-बाप को बेहोश देखकर मासूम बच्चे बिलखने लगे..तो अफसरों को होश आया और आनन-फानन दम्पती को अस्पताल पहुंचाया गया।

इस मामले में प्रशासन की घोर लापरवाही सामने आई है। जिस जमीन से कब्जा हटाने प्रशासन पहुंचा था, वहां साइंस कॉलेज बनना है। इस पर किसी ने कब्जा कर रखा है। इस किसान दम्पती को यह जमीन उसने बटिया पर जोतने दे रखा है। किसान दम्पती को इसके बारे में नहीं पता था। उसने खेत में फसल उगा रखी थी। वो मोहलत चाहता था, लेकिन अफसरों ने उसकी एक न सुनी।