loading...
loading...

भारत: वर्ल्ड बैंक के पूर्व चीफ इकनॉमिस्ट और भारत सरकार के पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार प्रोफेसर कौशिक बसु का बड़ा बयान सामने आया है उन्होंने मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा है कि पिछले 70 साल में भारत ने जो कमाया था वो अब मोदी सरकार गंवा रहा है। अमेरिका की कॉर्नेल यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर बसु ने इस बात पर भी चिंता जताई है कि उत्तर प्रदेश की हालत बिगड़ रही है। उन्होंने उत्तर प्रदेश के बारे में कहा है कि इस राज्य में धर्म की राजनीति शुरू हो रही है जात पात पर लोग एक दूसरे को हत्या कर रहे हैं जो बहुत ही खतरनाक है।

इंस्टीट्यूट ऑफ ह्यूमन डेवलपमेंट की चर्चा में बात करते हुए प्रोफेस बसु ने विचार रखे. इस चर्चा में उन्होंने राजनीतिक सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक मुद्दों पर विस्तार से बात की।मोदी सरकार की नाकामी को दुनिया के सामने रखें उन्होंने बताया है कि किस तरह से भारत में आज धर्म और जाति के नाम पर चुनाव हो रहे हैं।

loading...

कौशिक बसु ने बाताया कि 2003 से लेकर 2008 तक भारत की ग्रोथ रेट में लगातार तेजी देखने को मिली लेकिन भारत की ग्रोथ रेट पिछले सालों में लगातार तेजी से गिरी है। साल 2016-17 में भारत की ग्रोथ रेट 8.2% थी, जो 2019-20 में गिरकर 4.2% पर आ गई थी. लेकिन अब कोरोना संकट के बाद अनुमान लगाया जा रहा है कि ये गिरकर -5.8% पर आ चुकी है।

जो कि चिंता का विषय है. इसके पीछे उन्होंने कई कारण भी गिनाए। उन्होंने कहा कि जब-जब विपक्ष ने इस मुद्दों पर बात उठाई है भारत की मौजूदगी सरकार विपक्ष को कमजोर कर देते हैं जो एक लोकतंत्र देश के लिए बहुत ही खतरनाक है विपक्ष को पूरा हक होता है कि सरकार से सवाल जवाब कर सकें लेकिन भारत में बीते कुछ सालों में विपक्ष कमजोर पड़ रहा है बीजेपी सरकार विपक्ष को कमजोर बनाने में सफल रहता है इसी कारण देश हित में कोई भी काम नहीं होता हैं।

उन्होंने कहा, पिछले 2-3 साल में उत्तर प्रदेश में जो हुआ है वो काफी निराशाजनक है. कानून-व्यवस्था की बिगड़ती हुई स्थिति, धार्मिक उन्माद का बढ़ता स्तर, अल्पसंख्यकों के प्रति बढ़ती नफरत, राय अलग हुई तो चुप कराया जाना, ये सब भारत की परंपरा के खिलाफ है।